बीएससी का फुल फॉर्म ? बीएससी कोर्स की पूरी जानकारी हिंदी में

0
40

 

इस बात में कोई दो राय नहीं कि पिछले कुछ सालों में हमारे देश शिक्षा के क्षेत्र में काफी तेजी से आगे बढ़ा है (बीएससी का फुल फॉर्म) और ना केवल लोगों ने शिक्षा के महत्व को समझा है बल्कि शिक्षा के क्षेत्र में आगे बढ़ने के लिए अवसरों की बढ़ोतरी भी हुई है। छात्र जिस भी क्षेत्र में करियर बनाना चाहता है उसके अनुसार बारहवीं कक्षा के बाद अपना कोर्स चुन सकता है और काफी सारे ऐसे कोर्स हैं जो छात्रों के द्वारा सबसे अधिक चुने जाते हैं और ऐसा ही एक कोर्स BSc भी है। मुख्य रूप से साइंस स्ट्रीम के साथ 12वीं कक्षा पास करने के बाद छात्र बीएससी का कोर्स करते हैं और यह कोर्स वर्तमान में देश में सबसे अधिक किए जाने वाले कोर्सेज में से एक है जिसका मुख्य कारण यह है कि यह कोर्स करने के बाद छात्र विभिन्न क्षेत्रों में जा सकता है। अगर आप उन लोगों में से एक हैं जो आगे जाकर बीएससी कोर्स करना चाहते हैं तो यह लेख पूरा पढ़े क्योंकि इस लेख में हम आपको ‘बीएससी की फुल फॉर्म’ (बीएससी का फुल फॉर्म) के बारे में बताइए और साथ ही इसको से संबंधित सभी आवश्यक जानकारी भी देंगे।

BSc Full Form in Hindi – बीएससी का फुल फॉर्म?

बीएससी का फुल फॉर्म
बीएससी का फुल फॉर्म

किसी भी चीज को देख जाने से पहले आपको कुछ खट्टी के नाम पता होना चाहिए तो ऐसे में आगरा बीएससी कोर्स के बारे में जानने में रुचि रखते हैं तो आपको यह भी पता होना चाहिए कि आखिर इसकी फुल फॉर्म क्या है! तो बता दे कि बीएससी (BSc) की फूल फॉर्म ‘बैचलर ऑफ साइंस’ (Bachelor of Science) हैं। अगर कोर्स के हिंदी फुल फॉर्म की बात की जाए तो वह ‘विज्ञान के स्नातक’ मानी जाएगी।

What is BSc in Hindi – बीएससी कोर्स क्या हैं?

बैचलर ऑफ साइंस अर्थात बीएससी का कोर्स से एक अंडर ग्रेजुएट कोर्स होता है जो साइंस स्ट्रीम से सम्बन्धित होता हैं। इस कोर्स में वह सभी छात्र भाग ले सकते हैं जिन्होंने 12वीं कक्षा साइंस स्ट्रीम के साथ पास की थी। अगर आप बीएससी कोर्स करने जा रहे हो तो आपको यह बात याद होनीनहीं चाहिए कि यह कोर्स वर्तमान में देश में मौजूद सबसे विस्तृत कोर्सेज में से एक है जिसमें आप अपनी रूचि के अनुसार कई सब्जेक्ट में से चुनिंदा सब्जेक्ट का चुनाव कर सकते हैं और उन्हीं सब्जेक्ट के साथ आगे पढ़ाई कर सकते हैं। बीएससी के कोर्स में आप काफी सारे सब्जेक्ट जैसे कि फिजिक्स, केमिस्ट्री, कंप्यूटर साइंस, बायोलॉजी, मैथेमेटिक्स आदि को चुन सकते हैं और इन्ही सब्जेक्ट के साथ आगे पढ़ाई कर सकते हैं। बीएससी के कोर्स को पार्ट टाइम या फुल टाइम दोनों तरह से परस्यू किया जा सकता है।

BSc Course Duration in Hindi – बीएससी कोर्स कितने साल का होता हैं?

बैचलर बेचकर साइंस का कोर्स करने का प्लान बना रहे हो तो आप को यह बात पता होना चाहिए कि यह कोर्स कितने साल का होता है। जी हां, यह बात सच है कि साइंस स्ट्रीम में 12वीं कक्षा के बाद किए जाने वाले अंडरग्रैजुएट कोर्स मुख्य रूप से 4 या 5 साल और कई बार तो इससे भी ज्यादा समय वाले होते हैं लेकिन अगर बात की जाए बैचलर ऑफ साइंस कोर्स की तो यह केवल 3 साल का होता हैं। लेकिन अगर आप कोई एक्सटर्नल कोर्स जैसे कि B.Ed आदि करते हैं तो यह कोर्स चार या पांच साल का पड़ता हैं।

BSc Course Eligibilities in India – बीएससी कोर्स करने के लिए पात्रता

अगर आप उन छात्रों में से एक हो जो बीएससी कोर्स करने का मन बना चुका है तो आपको यह भी पता होना चाहिए कि यह एक प्रोफेशनल कोर्स है और किसी भी प्रोफेशनल कोर्स को करने के लिए कुछ पात्रताए निर्धारित होती हैं। BSc Course करने के लिए निर्धारित पात्रता कुछ इस प्रकार हैं:

• 12वीं कक्षा साइंस स्ट्रीम के साथ पास की हुई होनी चाहिए।

• मुख्य रूप से इस कोर्स को करने के लिए छात्र के 12वी में कम से कम 50 से 60% मार्क्स आने चाहिए।

• अगर आप सरकारी शिक्षण संस्थान से बीएससी कोर्स करना चाहते हैं तो वहां पर मेरिट बेस्ड सिस्टम चलता है।

• काफी सारे कॉलेज ऐसे भी हैं जिनमें बीएससी करने के लिए आपको एंट्रेंस एग्जाम देना पड़ता है तो अगर आप एंट्रेंस एग्जाम में पास हो गए तभी उन कॉलेजों में बेसी कर सकोगे।

BSc Course Fees in Hindi – बीएससी कोर्स करने में कितनी फीस लगती हैं?

आगरा बीएससी कॉल करने का मन बना चुके हैं तो आपको यह बात पता होनी चाहिए कि आखिर बीएससी कोर्स करने में आपको कितना पैसा लगेगा? क्योंकि उसके आगे ही प्लान बनाया जा सकता हैं। दरअसल बीएससी कोर्स एक प्रोफेशनल कोर्स इन लेकिन अगर आप इसे सरकारी कॉलेज से करते हो तो इसमें आपकी काफी कम फीस लगेगी यानी कि कुछ हजार रुपे में ही आपके पूरे साल का काम हो जाएगा लेकिन अगर आप प्राइवेट कॉलेज से इस कोर्स को करते हो तो इस कोर्स की फीस पूरी तरह से आपके कॉलेज पर डिपेंड करती है। किसी एवरेज कॉलेज में बीएससी कोर्स करने के लिए ₹30000 से लेकर ₹50000 सालाना देने पड़ सकते।

BSc Couse Kaise Kare – बीएससी कोर्स कैसे करें?

यह बातें सब बड़ी बातें जानते हैं की बीएससी कोर्स भारत में सबसे अधिक किए जाने वाले अंडरग्रैजुएट साइंस कोर्सेज में से एक हैं। दरअसल बीएससी कोर्स एक ऐसा कौन है जो आपको कई क्षेत्रों में आगे जाकर नौकरी करने व व्यवसाय शुरू करने में मदद कर सकता है। इसके अलावा इस कोर्स को कुछ इस तरह से डिजाइन किया गया है कि यह कोर्स SSC जैसी कई कॉन्पिटिटिव एग्जाम में भी आपकी मदद करता है। ऐसे में अगर आप इस कोर्स को करने की सोच रहे हो तो यह गलत फैसला नहीं हैं। बेसिक और करने के लिए आपको सबसे पहले 12वीं रिजल्ट साइंस इस टीम के साथ पास करनी होगी और बोर्ड में आपके कम से कम 50 से 60% मार्क्स आने चाहिए।

जब आप एक बार बाली कक्षा अच्छे मार्क्स के साथ पास कर लेते हो तो उसके बाद आप यह तय करना रहता है कि आप कौन से कॉलेज में बीएससी कोर्स करना चाहते हो। अगर आप सरकारी कॉलेज में बीएससी कोर्स करना चाहते हो तो मुख्य रूप से सरकारी कॉलेज में बीएससी कोर्स के लिए छात्रों को मेरिट बेस्ट सिस्टम पर भर्ती किया जाता है। वहीं दूसरी तरफ आगर आप प्राइवेट कॉलेज में बीएससी कोर्स करना चाहते हो तो उसके लिए आप मुख्य रूप से डायरेक्ट एडमिशन करा सकते हो जहा आपको आवेदन फीस और अपने डॉक्युमेंट्स जमा कराकर कॉलेज में एडमिशन करवाना होगा। लेकिन कुछ कॉलेज ऐसे भी है जो एंट्रेंस एग्जाम लेने के बाद छात्र को भर्ती करते हैं। इस तरह के कॉलेज में एडमिशन लेने के लिए आपको एंट्रेंस एग्जाम में अच्छे नंबर लाने होते हैं तभी आपको कॉलेज में भर्ती किया जाता है।

Google Full Form In Hindi?

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here